शनिवार, 4 जुलाई 2015

कविता-१९१ : "बुद्धत्व..."

बुद्ध को पाना आसान है


पर बुद्धत्व को पाना

उतना ही कठिन

जैसे

इंसान होना आसान

पर...

इंसानियत पाना

उतना ही कठिन

सच...!!!
-------------------------------------------------------------
_________आपका अपना ‘अखिल जैन’_________

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें